9 C
Innichen
Sunday, June 16, 2024

Suratgarh News – पति-पत्नी और बेटी समेत 4 की मौत, हादसे से पहले रील बनाकर की थी शेयर

Suratgarh News। 120 की स्पीड से स्कॉर्पियो गाड़ी दौड़ाने का वीडियो हादसे से कुछ मिनट पहले लोकेश उर्फ लक्की ने इंस्टाग्राम पर शेयर किया। उसे क्या पता था कि वह लास्ट रील अपलोड कर रहा है। दोस्त ने स्टेटस देखकर कहा था- रात में ड्राइविंग कर रहे हो आराम कर लेना, जल्दबाजी मत करना।

खाटूश्यामजी और सालासर के धोक लगाने के बाद श्रीगंगानगर लौटते समय श्रीसीमेंट फांटे के पास NH-62 पर रविवार शाम करीब 6.30 बजे तेज रफ्तार स्कॉर्पियो सीमेंट से भरे ट्रेलर में घुस गई। हादसे में लोकेश गुरेजा (37) उसकी पत्नी अनु गुरेजा, 6 वर्षीय बेटी और दोस्त गगनदीप (36) की मौत हो गई।

दोस्त ने आराम करने को कहा तो नहीं माने

श्रीगंगानगर के रहने वाले सुनील ने बताया- गगनदीप चावला मेरे बहनोई की वर्कशॉप पर काम करता था। वह हमेशा मेरे साथ ही टूर पर जाता था। पहली बार मेरे बिना खाटूश्याम जी के दर्शन करने गया था। रविवार दोपहर को स्टेटस को देखकर उसे कॉल किया था।

शनिवार रात को घर से निकलने के बाद बिना आराम किए लगातार चल रहे थे। इस पर मैंने कहा था कि गर्मी बहुत पड़ रही है। रात से ड्राइव कर रहे हो, इसलिए आराम कर लेना, जल्दबाजी मत करना। इसके बाद भी बिना आराम किए खाटू से सालासर के दर्शन करने निकल गए थे। फिर वहां से बिना आराम किए ही श्रीगंगानगर के लिए निकल गए थे।

सुनील ने दबी आवाज में कहा- झपकी आने से हादसा हुआ है। काश! वे लोग सलाह मान लेते और कुछ घंटे आराम करने के बाद घर के लिए रवाना होते, मगर ऐसा हो न सका।

सीमेंट के ट्रेलर में घुसी स्कॉर्पियो

सूरतगढ़ थाना SI हरबंस लाल ने बताया- स्कॉपियों में 5 लोग सवार थे। गगनदीप (36) पुत्र मदनलाल अपनी पत्नी प्रोमिला, दोस्त लोकेश गुरेजा (37) उसकी पत्नी अनु गुरेजा व 6 वर्षीय बेटी के साथ शनिवार रात करीब 9 बजे श्रीगंगानगर से सीकर के लिए रवाना हुए थे।

सभी ने रविवार सुबह खाटूश्यामजी के दर्शन किए। वहां से रवाना होकर रविवार शाम को चूरू में सालासर बालाजी के दर्शन किए। इसके बाद श्रीगंगानगर के लिए रवाना हुए थे। इस दौरान सूरतगढ़ पहुंचने के बाद श्रीसीमेंट फांटे के पास NH-62 पर रविवार शाम करीब 6.30 बजे तेज रफ्तार स्कॉर्पियो सीमेंट से भरे ट्रेलर में घुस गई।

लोगों ने शीशे और गेट तोड़कर बाहर निकाला

भिड़ंत इतनी तेज थी कि कार के परखच्चे उड़ गए। तेज धमाके की आवाज सुनकर पहुंचे आसपास लोगों और राहगीरों ने कार सवारों को बचाने का प्रयास किया।

सेंट्रल लॉक होने और कार के पिचक जाने से गेट नहीं खुल पाए। ऐसे में लोगों ने गेट व शीशों को तोड़कर सभी को बाहर निकाला।

एम्बुलेंस से सभी को श्रीगंगानगर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। जहां गगनदीप, लोकेश उसकी पत्नी अनु गुरेजा व 6 वर्षीय बेटी को मृत घोषित कर दिया। वहीं गगनदीप की प्रेग्नेंट पत्नी प्रोमिला को गंभीर हालत में बीकानेर रेफर किया गया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
YouTube Channel Subscribe Now

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles